Blogging kaise shuru Kare

Blogging kya hai? ब्लॉगिंग कैसे शुरू करें? इस बात को लेकर अक्सर new user में तनाव बना रहता है | कई बार user गलत website पर चले जाते हैं | क्योंकि उन्होंने ये सुना हुआ होता है कि ब्लॉगिंग में घर बैठे आसानी से पैसा कमाया जा सकता है, इसलिए इसी लालच में युवा कई बार गलत website का चुनाव कर लेते हैं और भ्रमित हो जाते हैं, जिससे वे कभी भी ब्लॉगिंग शुरू नहीं कर पाते ।

क्या आप भी उन लोगों में से हैं जो वास्तव में ब्लॉगिंग शुरू करना चाहते हैं? लेकिन समझ नहीं पा रहे हैं कि कहां से और कैसे शुरुआत करें? अगर हाँ तो आप सही जगह पर आए हैं। विश्व में भारत देश इंटरनेट का दूसरा सबसे बड़ा user है | इसके बावजूद भी ब्लॉगिंग करने वाले user की संख्या काफी कम है | इसका कारण यही है कि लोगों को सही जानकारी नहीं मिल पा रही है |

आप internet पर search करके इस post तक पहुंचे हैं तो ज़ाहिर है कि आप वाकई blogging start करना चाहते है,इसलिए आप कहीं मत जाइए | इस पोस्ट में आपको पूरी जानकारी दी जाएगी | जैसे कि ब्लॉगिंग क्या है? ब्लॉगिंग कैसे शुरू करें? Blogging करने में कितना खर्च आता है? और ब्लॉगिंग करके कितने समय में कितना पैसा कमाया जा सकता है? तो चलिए शुरू करते हैं कि ब्लॉगिंग कैसे शुरू करें? इससे पहले यह जान लेते हैं कि ब्लॉगिंग क्या है?

Blogging kya hai? Blogging kaise shuru kare 2022 me

ब्लॉगिंग text, images और videos के माध्यम से महत्वपूर्ण जानकारी शेयर करने का एक तरीका है, जिसे blog post कहते हैं | जो व्यक्ति blog post share करता है, उसे Blogger कहा जाता है। Blogging करने के लिए एक खास पोर्टल को चुना जाता है जिसमें ब्लॉग पोस्ट को लिखा और डिजाइन जाता है | 

Blogging ke best platform kaun se hain

ब्लॉगिंग में अलग-अलग प्रकार की जानकारी को publish किया जाता है | इस जानकारी को Mobile,Tablet, Computer आदि के जरिए लोगों द्वारा पढ़ा जाता है। सभी blog किसी ने किसी एक टॉपिक पर लिखे जाते हैं जैसे Food blog, Travel blog, Technology blog, Health blog, Sports blog, News blog आदि।

इसके अलावा कुछ ऐसे ब्लॉग भी होते है जिसमें सभी विषयों पर ब्लॉगिंग की जाती है | लेकिन ऐसी blogging में आपको हर दिन कुछ न कुछ समय-समय पर अपडेट करना पड़ता है।

किसी भी blog का उद्देश्य महत्वपूर्ण जानकारी को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाना होता है जिससे कि कोई भी व्यक्ति कभी भी जानकारी को पढ़ सके । चाहे दिन हो या रात अपने सय के अनुसार जब मन चाहे user द्वारा पढ़ा जा सकता है।

Blogging niche kaise select Karen

किसी भी blog का niche वह टॉपिक होता जिसमें ब्लॉग पोस्ट को लिखा जाता है | एक ही niche पर काम करने का एक बड़ा फायदा यह भी होता है कि गूगल जब किसी keyword को select करके रिजल्ट दिखाता है तो वह niche के according ही database में से रिजल्ट को सर्च करके user को दिखाता है।

Niche को अपने interest के अनुसार चुना जाना चाहिए जितना ज्यादा पोस्ट आप किसी एक niche पर लिख पायेंगे, उतना ही आपके ब्लॉग या website के लिए अच्छा होता है | साथ ही गूगल में आसानी से अच्छी रैंकिंग में मिल पाती है |

कई बार ऐसा होता है कि नए ब्लॉगर दूसरों के blog को देखकर same to same ब्लॉग लिखना शुरु कर देते हैं लेकिन खुद उस चीज में ख़ुद का interest नहीं होने के कारण दो या चार ब्लॉग से ज्यादा नहीं लिख पाते और ब्लॉगिंग में फेल हो जाते हैं।

इसलिए अपने पसंदीदा niche को जानकर और समझकर ही blog के टॉपिक का चयन करें | ब्लॉगिंग को एक अच्छे करियर के रूप में अपनाया जा सकता है और एक अच्छी niche को अपनाकर सफलता को हासिल किया जा सकता है।

Blogging language select Kare

कुछ लोगों को लगता है कि ब्लॉगिंग सिर्फ English में ही की जाती है, लेकिन ऐसा नहीं है | ब्लॉगिंग के क्षेत्र में English आर्टिकल सिर्फ इसलिए ज्यादा होते हैं क्योंकि उनको पढ़ने वाले user किसी एक देश के ना होकर पूरे world के होते हैं। English ऐसी language है जिसे पूरे world में बोला और पढ़ा जाता है |

जबकि ब्लॉगिंग को किसी भी भाषा में किया जा सकता है | English, हिंदी, गुजराती, पंजाबी, उर्दू आदि। वर्तमान समय में हिंदी ब्लॉग की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है | उसका कारण सिर्फ यह है कि India में ही नहीं, बल्कि India के बाहर भी हिंदी ब्लॉग पढ़ने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। जो हिंदी bloggers के लिए अच्छा संकेत है।

गूगल उन सभी भाषाओँ को सपोर्ट करता है, जिनके blog को पढ़ने वाले users की संख्या ज्यादा हो | इसलिए आप जिस लैंग्वेज में चाहे ब्लॉगिंग शुरू कर सकते हैं | भाषा परिवर्तन के लिए Google Translate की भी सहायता ली जा सकती है | अगर आपकी English पर पकड़ अच्छी है, तो आप English में भी शुरू कर सकते हैं | लेकिन English blogging में competition बहुत ज्यादा होता है ,इसलिए struggle भी ज्यादा ही करना पड़ता है।क्या आप struggle करने के लिए तैयार हैं?

Domain name select Karen

Blogging kaise shuru kare 2

किसी blog के लिए एक domain name बहुत मायने रखता है, क्योंकि domain name से ही google bots ये जान पाते हैं कि कोई domain किस प्रकार का content रखता है | किसी भी पोस्ट को रैंक करने के लिए गूगल बहुत से algorithm use करता है, जिसमें domain name भी एक important factor है | इसलिए blogging की शुरुआत करते समय domain name अच्छी तरह सोच समझकर use करें | इससे blog की रैंकिंग में सपोर्ट मिलेगी।

Domain name को बहुत ज्यादा बढ़ा ना रखें | कोशिश करें कि domain का नाम आपकी niche के according हो और साथ ही छोटा भी हो, जिसे याद रखने में आसानी हो। Domain का extension [.com] हो तो ज्यादा बेहतर रहता है | ऐसी कई website है जो आपको domain provide कराती हैं जैसे-

  • Godaddy
  • Big Rock
  • Namecheap
  • Bluehost
  • Hostgator
  • 1 & 1
  • Znet Live

Hosting select Karen

Blogging kaise shuru kare 3

Domain के बाद दूसरी सबसे इंपोर्टेंट चीज है होस्टिंग। होस्टिंग क्या है? इंटरनेट पर हमारे पोस्ट के डेटाबेस को स्टोर करने के लिए जो स्पेस चाहिए होता है, उसे होस्टिंग कहते हैं | यही वो space है, जहां पर हमारी post का पूरा डाटा store होता है | इन्ही database को user blog के रूप में पढ़ पाते हैं जो किसी भी ब्राउज़र के द्वारा show कराया जाता है |

India में बहुत से Hosting providers हैं, जो किफ़ायती दामों में होस्टिंग देते हैं | साथ ही SSL certificate भी में देते हैं जैसे-

  • Siteground
  • Bluehost
  • Hostgator
  • A to z hosting
  • Namecheap
  • Godaddy
  • WordPress.com
  • Inmotion
  • WPengine

User friendly blog banaye

Blog को अच्छी तरह से डिजाइन करें | सभी टॉपिक को अलग-अलग category wise manage करें | सभी elements को navigate करें | web page का design ऐसे बनायें जिससे user दिए गए लिंक पर click करके नए टॉपिक पर आसानी से जा सके | Breadcrumb का यूज़ करें। इसी user को यह पता चल जाता कि मैं website कौन से पेज पर है और किस heading से navigate हुआ है |

अगर आपकी website का design अच्छा नहीं है, तो user आपके ब्लॉग को जल्दी छोड़ देंगे | जिससे गूगल की नजर में आपकी website का बाउंस रेट बढ़ जाता है | बाउंस रेट ज्यादा बढ़ जाने पर गूगल को लगता है कि आपकी website पर user के इंटरेस्ट का कोई content नहीं है | इसकी वजह से आपके webpage की ranking डाउन होना शुरू हो जाती है |

Google search console se connect kare

ब्लॉगिंग में किसी भी पोस्ट को rank करने के लिए उस post को Google search console में सबमिट करना जरूरी होता है | इस में submit करने से गूगल को यह पता चलता है, कि किसी website पर नया ब्लॉग अपलोड किया गया है, अगर आपका blog एकदम unique है तो उस पोस्ट के गूगल में रैंक होने के chances ज्यादा होते हैं |

Google search console में अपनी न्यू पोस्ट का complete URL submit करें | अगर आप ऐसा नहीं करते हैं, तो आपकी पोस्ट, आपके अलावा और कोई नहीं देख पाएगा क्योंकि गूगल में पता ही नहीं चलेगा कि आप ने website पर कोई नया ब्लॉग अपलोड किया है |

Google analytic se connect kare

आपकी पोस्ट को कितने लोग देख रहे हैं? किस कैटेगरी की पोस्ट को ज्यादा user पढ़ रहे हैं? आप की website की किस post पर कितने visitors आ रहे हैं? ज्यादा traffic कहाँ से आ रहा है? Bounce rate क्या है? इन सभी सवालों का एक ही जवाब है गूगल Google analytic tool जो कि गूगल का ही एक फ्री product है।

इस tool के द्वारा आप अपनी website पर आने वाले ट्रैफिक को देख सकते हैं और उसको calculate करके अपनी आगे की प्लानिंग कर सकते हैं।

Free में न्यू ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे लायें 

Unique blog post likhe or SEO Kare

किसी भी website के लिए unique blog का होना बहुत जरूरी होता है | similar content को गूगल तुरंत पहचान लेता है और इस तरह के कंटेंट को कभी भी रैंक नहीं करता है| unique blog लिखने के साथ-साथ SEO भी करें | अगर आप फ्री में अपने ब्लॉग को रैंक करना चाहते हैं तो SEO जरूर करें |

SEO कैसे करें? इसके ऊपर Youtube पर आपको काफी सारी वीडियो मिल जाएंगी | आप वहां से भी refrence ले सकते हैं | वैसे आपको बता देना चाहता हूं कि SEO दो प्रकार से किया जाता है-

  • On page SEO
  • Off page SEO

ब्लॉगर में SEO करना थोड़ा सा मुश्किल होता है, लेकिन अगर आप की website WordPress पर है, तो Yoast और Rank math जैसे plugin की मदद से इसे आसानी से किया जा सकता है, वह भी बिल्कुल फ्री में | जानने के लिए नीचे दिए गए link पर click करें |

SEO kya hai? Free में SEO kaise kare

Blog me images ka upyog Kare

Images किसी भी ब्लॉग की जान होते हैं | कल्पना कीजिए क्या आप 2000 से 3000 शब्दों का ऐसा blog पढ़ना पसंद करेंगे जिसमें एक ही इमेज ना हो, नहीं ना। images से content के साथ इंटरेक्शन बना रहता है और user को blog पढ़ने का इंटरेस्ट बढ़ता रहता है |

एक अच्छी और text से related image होने के कारण ही यह रीडर उस इमेज पर क्लिक करके आपके blog तक पहुंचते हैं और बीच-बीच में भी images होने के कारण पूरा blog पढ़ पाते हैं |

इसलिए कोशिश करें कि blog में कम से कम 3-4 images का प्रयोग जरूर करें और blog में शब्दों की संख्या 1500-2000 शब्द जरूर हो |

Blog ke liye image kahan se laye

ब्लॉगिंग के लिए कई website ऐसी होती हैं जो copyright free images उपलब्ध कराते हैं जिन्हें आप अपने blog के topic के अनुसार चुन सकते हैं, जैसे

  • pixabay.com
  • unsplash.com
  • www.pexels.com
  • www.freeimages.com

कई बार images हमारे blog के अनुसार नही होती, हमें बनानी पड़ती है | अगर आपको images editing करना आता है, तो बहुत अच्छा है और अगर नहीं आता है तो आप अपने फ्रेंड की मदद ले सकते हैं | Youtube पर videos देखकर images बनाना सीख सकते | इमेजेस बनाने के लिए नीचे दिए गए सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जा सकता है।

  • Paint
  • MS office picture manager
  • Photoshop
  • CorelDRAW
  • Canva.com

Web pages banaye

Blogging kaise shuru kare 4

Blogging में किसी भी website के लिए कुछ जरूरी pages बनाने होते हैं | उनसे user इंगेजमेंट बढ़ती है और आपकी website के ऊपर trust भी build up होता है | इसी के आपके blog के सर्च रिजल्ट में आने की संभावना भी ज्यादा हो जाती है।

इसके अलावा अगर इन पेजेस के website पर ना होने से Adsense approval लेने में भी बाधा आती है | इन महत्वपूर्ण पर जिसका नाम है-

  • About us
  • Contact us
  • Privacy policies
  • Disclaimer

इसके अलावा भी एक और page होता है जिसका नाम है Affiliate disclosure page | यह page उस समय जरूरी होता है, जब आप adsense इसके अलावा affiliate campaign भी चलाना चाहते हैं | अगर आपने पहले से affiliate program चला रखा है और आप adsense भी लेना चाहते हैं, तो इस affiliate disclosure page का होना बहुत जरूरी है।

और सबसे ज़रूरी बात, website का home page सही से नेविगेट होना आवश्यक है | आपकी website के logo पर क्लिक करने पर user आपकी website के home page पर redirect हो जाना चाहिए। अगर ऐसा नहीं होता है तो आपको अपनी website के होम पेज को फिर से डिजाइन करने की आवश्यकता होती है।

Itechshala के logo पर click करने से आप इस website के home page पर पहुँच सकते हैं |

कुछ web themes ऐसी होती है जो इस प्रकार की सुविधा default setting में मिलती है, लेकिन अगर आप की website पर ऐसा नहीं है तो होम पेज सही से manage करें।

AdSense se link Kare

Adsense क्या है? क्यों जरूरी है ब्लॉग के लिए? Adsense गूगल की ही एक service जिसके द्वारा किसी adsense approved website पर ads दिखाए जाते हैं, जिसके बदले गूगल उस website के owner को कुछ amount commission के रूप में देते हैं जो एक अच्छी online income होती है।

यह online income किसी भी साधारण job से मिलने वाली सैलरी से कहीं ज्यादा अच्छी होती है। adsense के अलावा और भी कई services हैं जिनको अपने ब्लॉग पर provide करा कर आप अच्छी massive income कर सकते हैं जैसे-

  • Affiliate marketing
  • Email marketing
  • Online courses in PDF

दोस्तों अभी तक ऊपर जो भी तरीके बताए गए हैं, उम्मीद करता हूं कि आप समझ गए होंगे कि Blogging kaise shuru kare और क्यों शुरू करें। ब्लॉगिंग शुरू करने का मकसद massive income करना तो होता ही है, जो पॉसिबल है सिर्फ अपने ज्ञान का विस्तार करके। यानी कि जो भी knowledge आप के पास है उसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाना ही blogging का मुख्य उद्देश्य होता है।

अब ये तो clear हो गया कि Blogging kaise shuru kare लेकिन कुछ नए पाठकों के सामने अभी भी यह सवाल हो सकता है कि ब्लॉगिंग कहां करें। कहाँ पर हम अपने विचारों को कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचा सकते हैं | आइये इसका भी समाधान कर लेते हैं, बने रहिए हमारे साथ

Blogging Kahan kare | शुरुआती के लिए blogging

तो चलिए दोस्तों अब हम उस टॉपिक पर आते हैं जो हमने पीछे छोड़ दिया था कि blog कहां लिखें? कहां से शुरुआत करें? वर्तमान समय में ब्लॉग लिखने के लिए दो पोर्टल को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है | उम्मीद है, आपको भी पसंद आएंगे। इनमें से एक फ्री portal है जिसका नाम है Blogger, और दूसरा paid portal है जिसका नाम है WordPress। चलिए इनके बारे में थोड़ा-थोड़ा जान लेते हैं।

Blogger

ब्लॉगर एक गूगल की service है जिसमें web pages बनाए जाते हैं | website डिजाइन की जाती है | इस का पुराना नाम blogspot.com था | वर्तमान समय में इसे Blogger के नाम से जाना जाता है । ब्लॉगर में काफी अच्छी website डिजाइन की जाती है, लेकिन यहां पर सिर्फ एक ही समस्या रहती है कि आप अपने ब्लॉग को पूरी तरह से customize नहीं कर सकते | यहां पर आपको बहुत ही limited options मिलते है।

लेकिन यहां पर सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आपको अपनी website के लिए lifetime SSL certificate free में मिलता है।

इसके विपरीत WordPress में भी free और paid सुविधाएँ मिलती हैं, जो आपके blog को beautiful बनाने में मदद करती हैं | यहां सबसे अच्छी बात यह कि इनको आप अपनी मर्जी से अपने content के मुताबिक customize कर सकते हैं |

WordPress

Website बनाने के लिए और ब्लॉग लिखने के लिए वर्डप्रेस को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है जबकि यह एक paid portal है | इसमें website बनाने के लिए आपको पैसा खर्च करना पड़ता है | यहाँ पर आप थोड़ा सा investment करके एक अच्छी website बना सकते हैं सकते हैं और अपनी पसंद का ब्लॉग लिख सकते हैं।

क्या आप जानना चाहते हैं कि Blogger और WordPress में कौन सबसे अच्छा है? तो niche दिए गए link पर click करें |

Blogger vs WordPress कौन best है?

wordpress के लिए बहुत ही ऐसी free themes है जिनका loading time 1 सेकेंड से भी कम होता है | ये सभी themes SEO के हिसाब से best मानी जाती हैं जैसे-

चलिए यह तो समझ आ ही गया कि Blogging kaise shuru kare और Blog कहां लिखे? अब यह भी जान लेते हैं कि blog के लिए नया आईडिया कहां से लाएं?

Unique blog post idea kahan se le

यहाँ पर किसी भी नए blogger को सबसे बड़ी समस्या आती है कि blog के लिए नया article तो लिखना है लेकिन नया idea कहाँ से लायें? आइये ये भी समझ लेते हैं |

किसी भी लोग के लिए नया कंटेंट होना बहुत जरूरी होता है क्योंकि user हर रोज कुछ ना कुछ नया चाहते हैं, कुछ अलग पढ़ना चाहते हैं | ऐसे में यदि आप वही पुरानी बातें ही अपने ब्लॉग पर लिखते रहेंगे तो user आपके ब्लॉग पर ज्यादा देर रुकेंगे नहीं या फिर हो सकता है कि blog में नया content ना होने की वजह से गूगल खुद ही आपके ब्लॉग की indexing करना बंद कर दे।

ऐसे में जरूरत होती है new ideas की | user क्या पढ़ना चाह रहे हैं? यह भी गूगल हमें खुद ही बता देता है | बस हमें alert रहने की आवश्यकता होती है और ठीक से सर्च करना होता है |

Blogging क्यों करनी चाहिए? Blog लिखने के फ़ायदे क्या है?

Blogging के अनगिनत फ़ायदे हैं | जो प्रत्येक व्यक्ति के लिए अलग अलग हो सकते हैं | blogging किन लोगों के लिए फायदेमंद है नीचे   बताये जा रहे हैं :

  • जो लोग अपने काम करने के घंटे ख़ुद तय करना चाहते हैं |
  • जो किसी और के लिए नही बल्कि अपने लिए काम करना चाहते हैं |
  • जो किसी की job करना पसंद नही करते |
  • जो जीवन जीने के लिए ख़ाली समय चाहते हैं |
  • जो unlimited पैसा कमाना चाहते हैं, Blogging में job के मुकाबले अच्छा पैसा कमाया जा सकता है |
  • जो कम समय में लेकिन मेहनत करके उब्लब्धि हासिल करना चाहते हैं |
  • जो दूसरों की मदद करके अच्छा महसूस करते हैं | Read more 

Conclusion

दोस्तों! उम्मीद है आपको आपके सरे सवालों के जवाब मिल गए होंगे | अगर अभी भी कोई सवाल मन में हो तो आप comment section में जाकर पूछ सकते हैं | हम पूरी कोशिश करेंगे आपके सवालों का समाधान करने की |

आपको ये पोस्ट Blogging kaise shuru kare कैसी लगी? अगर पसंद आया हो तो comment करें और अपने दोस्तों को share भी करें | post को share करने के विकल्प post के अंत में दिए गए है आप जो चाहें,चुन सकते हैं | post को पूरा पढने के लिए दिल से धन्यवाद!!

Advertisement

To Start Earning, Keep learning

We’d love to keep you updated with our latest post and offers 😎

Share with love

8 thoughts on “Blogging kaise shuru Kare”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top