Computer virus kya hai in Hindi

Computer virus kya hai? कंप्यूटर वायरस से वो सभी लोग अच्छी तरह से वाक़िफ़ होंगे computer का use करते हैं | क्योंकि computer का प्रयोग करते समय कुछ परेशानी पैदा होती रहती है जैसे- Computer का hang हो जाना, computer कि speed slow हो जाना, अचानक से shutdown हो जाना, किसी folder या file का delete करने के बाद भी delete ना होना आदि |क्या आप भी जानना चाहेंगे की computer virus क्या होता है और ये कैसे फैलता है | computer virus को कंप्यूटर में फैलने से रोकने के लिए कौन-कौन से क़दम उठाने चाहिए? अगर आपके मन में भी ऐसे सवाल आ रहे हैं तो बने रहिए हमारे साथ |

Computer virus ऐसा वायरस है जो दिखाई तो नही देता फिर भी हमारे computer की बहुत सी important files को corrupt कर देता है | जिससे computer को रन होने में परेशानी होने लगती है | मैं आपको अपने साथ हुआ एक वाकिया बताता हूँ |

computer कितने प्रकार के होते हैं? Types of computer_A complete guide in HIndi

कुछ महीनों पहले मेरे कंप्यूटर में कुछ folder अपने आप बनने लगे | जैसे my music folder के अंदर एक और my music नाम का folder बन जाता था, उसे open करो तो उसके अंदर भी एक और my music नाम का folder | ऐसे कंप्यूटर में जितने भी folder थे सभी के अंदर बहुत सारे sub folder बने हुए थे और आश्चर्य की बात तो ये, कि सभी के सभी खाली | जैसे ही मैं इन folder को delete करके folder को back करता ये फिर से create हो जाते | मैं इनको फिर से delete करता और ये फिर से new folder बन जाते |

Advertisement

मैंने इनसे परेशान होकर एक antivirus की CD खरीदी जिसका नाम था “Guardian Net Secure” और इसको अपने कंप्यूटर में install किया | install करते ही antivirus ने Scan your full computer का massage दिया और मैंने OK कर दिया | जैसे ही कंप्यूटर scan complete हुआ, आप यकीन नही करेंगे | करीब 8000 corrupted फाइल्स मिली जिनको completely delete करना पड़ा | जो computer virus जैसे फाइल थे |

तब जाकर मेरा कंप्यूटर ठीक प्रकार से run करने लगा  और अभी तक सही चल रहा है | अच्छी बात ये भी रही कि इस दौरान मेरा data loss नही हुआ | ये virus ही था जिसके कारण ये folder बार -बार बनते जा रहे थे | क्या आपको भी कभी ऐसी परेशानी का सामना करना पड़ा ?

Computer virus kya hai

computer virus kya hai

Computer virus एक प्रकार का software होता है जो कंप्यूटर की files को ख़राब corrupt करने के लिए बनाया जाता है | यह कंप्यूटर को run करने वाली files को infect कर देता है जिससे कंप्यूटर के run होने में बाधा आने लगती है और कंप्यूटर slow work करने लगता है | Virus को malicious software program (द्वेषपूर्ण प्रोग्राम) भी कहते हैं | इसे एक बार कंप्यूटर में install कर दिया जाए तो यह कंप्यूटर को पूरी तरह infected करके बंद कर सकता है |

Top 10 dangerous computer virus

VIRUS का पूरा नाम क्या है? full name of computer virus

  • V- Vital
  • I- Information
  • R- Resources
  • U- Under
  • S- Siege

कंप्यूटर वायरस के कार्य

computer virus kya hai? ये वो files होती हैं जो कंप्यूटर को run होने में बाधा पैदा करती हैं | यह एक ऐसा auto execute program होता है जिसे run नही कराना पडता यह हमारे ही कंप्यूटर के किसी भी program के साथ जुड़ जाता है और चलता रहता है | साथ ही कंप्यूटर files को effect करता रहता है जिसका हमें पता भी नही चलता | फिर धीरे धीरे इसका ज्ञान होता है जिसके कुछ लक्षण दिखाई देने लगते हैं |

Computer की speed धीमी होती जाती है क्योंकि कंप्यूटर का processor virus द्वारा बनाए गए program को execute करने में busy हो जाता है | computer virus की वजह से browsing setting में बदलाव आने लगता है जैसे-

  • Color और homepage menu में changes आना |
  • चलते हुए program का बार बार रुक जाना |
  • Popup massage का आना |
  • अनजाने icon, files और folder का अपने आप बनना |
  • अनचाहे software का अपने आप कंप्यूटर में install हो जाना |

Computer virus kya hai इसका निर्माण कैसे हुआ |

कंप्यूटर virus को बनाने वाला software developer ही होता है जो कंप्यूटर coding के बारे में अच्छी तरह जानता है | उसे software की ख़ामियाँ और ख़ूबियाँ का भरपूर ज्ञान होता है | ये लोग technology की दुनिया में भय पैदा करने और अपराध करने जैसे कामों को करते रहते हैं | ऐसे लोगों को ‘Hackers’ हैकर्स कहते हैं |

Computer virus को मज़ाक के तौर पर बनाया गया था | जिसका मकसद सामने वाले को कुछ समय के लिए भयभीत करना था | लेकिन बाद में इसका उपयोग computer को हैक करने और data चोरी करने में प्रयोग किया जाने लगा | जो आज सबसे ख़तरनाक रूप ले चुका है और लगातार cyber attack जैसी घटनाओं को बढ़ावा दे रहा है |

सबसे पहला Computer virus किसने बनाया

सबसे पहला कंप्यूटर virus Robert Thomas नाम के engineer ने बनाया | जिसका उद्देश्य prank करना (शरारत ) था | Mr. Robert BBN technology में काम किया करते थे इनको software coding का बहुत अच्छा ज्ञान था |

सन 1971 में इन्होने एक virus develop किया जिसका नाम था “Creeper” | इस virus ने सबसे पहले ARPANET के mainframe computer पर अटैक किया | Creeper virus ने सबसे पहले PDP-11 को infect किया जो ARPANET से connected थे | जैसे ही ये वायरस कंप्यूटर में जाता था तो एक massage show करने लगता था “I`m creeper, catch me if you can” |

Computer virus kya hai ये वो unwanted files होती हैं जो सबसे पहले Operating system के boot सेक्टर पर अटैक करती है क्योंकि वहीँ से वो सभी files execute होती हैं जिनके कारण कंप्यूटर चालू होता है | उसके बाद virus धीरे-धीरे computer के secondary storage तक पहुँच जाता है | जिससे computer की गति धीमी होना, data loss होना आदि जैसी समस्या पैदा कर देता है | यहाँ तक के system पूरी तरह से crash (ख़त्म ) भी कर सकता है |

Computer virus ke prakar | Computer virus examples

वैसे तो 1971 से आज तक बहुत से virus बनाये गए लेकिन कुछ ऐसे virus हैं जो ज्यादा popular रहे जैसे –

  • SQL Slammer
  • Melissa virus
  • Elk corner
  • Mydoom
  • ILOVEYOU
  • Code red

read more: Top 10 computer virus जिनसे हमे बचना चाहिए

Computer virus कंप्यूटर और other electronic device जैसे mobile, laptops, notebook, आदि को infect कर सकता है | कंप्यूटर virus स्वयं नही बनते बल्कि इनको बनाया जाता है | दूसरों के कंप्यूटर से ज़रूरी information चोरी करने के लिए | जैसे – account details चोरी करना, personnel data, Photos, videos, software आदि |

Computer virus kya hai इसे बनाने के पीछे क्या उद्देश्य हैं

computer virus kya hai

जैसा कि हमने बताया की virus को सिर्फ़ शरारत करने के लिए बनाया गया था | लेकिन बाद में लोगों ने इसका misuse करना शुरू कर दिया | जो आज के समय काफी हानिकारक साबित हो रहा है | Dark web पर computer virus सबसे अधिक मात्रा में है | इसलिए यहाँ आप सावधानी से visit करें |

Virus को बनाने के निम्नलिखित उद्देश्य हो सकते हैं:-

  • Weak system को हैक करना और उनसे data चोरी करना |
  • दूसरों के system पर अनाधिकृत रूप से अधिकार करना |
  • अनावश्यक रूप से दूसरों को परेशान करना |
  • दूसरों के काम को बाधित करना और भय पैदा करना |
  • अवैध तरीके से पैसा कमाना |

Computer virus kya hai और कैसे फैलता है |

Computer को प्रयोग करते समय आपको कुछ बातों का ख्याल रखना चाहिए | Internet का उसे करने में सबसे ज्यादा virus फैलने का खतरा रहता है | क्योंकि बहुत से ऐसे लोग हैं जिनका सबसे ज्यादा काम online ही रहता है और इसके लिए internet कि आवश्यकता पड़ती ही है | जैसे – Blogging, Networking, Net-surfing, share market business आदि | वैसे computer virus मुख्य दो तरीके से फैलता है:

Offline:

कई बार कंप्यूटर Virus infected CDs/DVDs को कंप्यूटर में लगाने से virus आ जाता है | 

Infected Floppy disk से भी कंप्यूटर में virus आ जाता है वैसे आजकल floppy चलन में नही नहीं हैं | 

Infected Pen-drive के द्वारा भी कंप्यूटर में virus आ जाता है | क्योंकि पेन-drive डाटा ट्रांसफर करने का अच्छा साधन है |

Infected OTG यानि on-the-go Pen-drive से भी virus आ जाता है क्योंकि यह Smartphone में connect हो जाती है | 

Online:

कई बार Pirated software डाउनलोड कर लेने से भी कंप्यूटर में virus आ जाता है क्योंकि इन software की files में छिपी हुई virus की file होती हैं जो software install होने पर storage में जगह बनानी शुरू कर देती है |

Porn site से भी virus आने का पूरा खतरा रहता है इसमें कुछ लुभावने विज्ञापन होते हैं जिन पर click करते ही virus automatic आपके कंप्यूटर में आ जाता है और आपका data चोरी करने लगता है |

Unidentified E-mail कई बार आपको लालच देने वाली mail आ जाती है जैसे “ आपने 100000 जीते हैं,अपने खाते में लेने के लिए click here “ | इस तरह के mail से बचे और बिना open किए delete कर दें | कई बार आपको unauthorized link आ जाते हैं जिन पर click करने से आप virus का शिकार हो सकते हैं |

किसी software को install करते समय कई step पर वह आगे बढ़ने की permission मांगता है और साथ में एक निर्देश भी दिखाता है ,कुछ लोग उन निर्देशों (Prompt )को पढ़े बिना ही next-next करते जाते हैं जिससे virus उस software के साथ install हो जाता है |

Software और Computer virus में अंतर

इन दोनों में वही फ़र्क है जो अच्छाई और बुराई में होता है | software का काम इंसान के कामों को सुलभ और आसान बनाना है वहीँ virus virus का काम destroy करना है | चलिए इसे movie के माध्यम से समझते हैं |

आपने अक्तूबर`2010 में आई “ROBOT” मूवी तो देखी ही होगी | इसमें एक रोबोट को दो character में दिखाया गया है | रोबोट को चलाने के लिए एक programmed की हुई chip का use किया गया है जिसमे अच्छे program डाले गए थे जैसे – Human security, Emotions, Feelings आदि | वो सब बातें जो किसी का अच्छा होने के लिए ज़रूरी होती हैं |

उसके विपरीत जब डॉ.बोहरा उसकी programmed chip को बदलकर एक negative program वाली red chip लगा देता है तो वो विनाशकारी हो जाता है | क्योंकि उसमे destructive program डाले गए थे | ठीक इसी प्रकार virus भी एक destructive software है |

Virus से कंप्यूटर से कैसे सुरक्षित रखें |

computer को virus से बचाने बहुत से छोटे छोटे steps जिनकी मदद से आप अपने कंप्यूटर को virus के अटैक से बचा सकते हैं और सुरक्षित रूप से अपने computer या laptop को चला सकते हैं | आइए देखते हैं कि वो कौन-कौन से steps हैं:

जो भी file या software आप इन्टरनेट से download करें उसे एक बार scan ज़रूर कर लें |

जो भी removable media जैसे pen-drive या memory card आप कंप्यूटर में लगायें use antivirus से scan करें |

ऐसी websites पर जाने से बचें जो authorized नही हैं |

ऐसी किसी भी link या website या प्रलोभन देने वाली चीज़ को क्लिक न करें | ये कोई ट्रैप हो सकता है |

Porn sites पर जाने से बचें इसमें आने वाले advertisement में virus छिपा होता है |

अपने computer में कोई भी third party software install न करें | केवल official website से software download करें |

Video, MP3, Software, डाउनलोड करने के लिए हमेशा trusted sites पर ही जाएँ |

किसी भी ऐसी website पर न जाएँ जिस पर आपको संदेह हो रहा हो उसके बारे में पहले थोड़ी जांच पड़ताल कर लें |

जिन websites के URL से पहले https लगा हो वो पूरी तरह से सुरक्षित होती हैं उनका use करें |

कुछ website ऐसी भी हैं जिन पर जाने से पहले गूगल स्वयं ही error massage दिखा देता है और ‘back to safety’ पर click करने के लिए कहता है |

एक अच्छा सा antivirus install करें जो आपको virus के अटैक से बचा सके | साथ ही अपने computer के लिए strong password बनाये |

Read more: पासवर्ड क्या है? Strong password कैसे बनायें?

Antivirus kya hai और क्या काम करता है

computer virus kya hai

antivirus – विषाणु विरोधी यानि कि वह software जो virus को मिटाने का काम करता है antivirus कहते हैं | जिस तरह virus को coding करके बनाया जाता है उसी तरह virus के लिखे कोड्स को delete करने के लिए antivirus के कोड्स को लिखा जाता है | यह काम software developer द्वारा किया जाता है | Antivirus यानी,  Anti- विरोधी, virus- विषाणु |

जिस तरह मरीज़ को ठीक करने के लिए उस बीमारी का anti-dot दिया जाता है उसी तरह के भीतर बनने वाले automatic program को delete करने का काम antivirus करता है | यह कंप्यूटर में बसे virus को तो निकलता ही है |साथ ही कंप्यूटर में आने वाले नए virus से भी कंप्यूटर को बचाता है |

अगर समय पर antivirus use न किया जाए तो virus आपके system को पूरी तरह से अपने कब्जे में ले लेता है या फिर नष्ट कर देता है |

नीचे कुछ antivirus के नाम बताए जा रहे हैं आप जो भी लें Paid version ही लें | क्योंकि ये आपके data को ज्यादा सुरक्षा देता है |

Conclusion:(निष्कर्ष)

Computer world में computer virus बहुत ही ख़तरनाक software है | antivirus use करें जो 3 महीने, 6 महीने,12 महीने की वैधता के साथ online और offline (shop ) से मिल जाते हैं | net-banking use करते समय सावधानी बरतें | अपनी account details किसी के साथ share न करें | सुरक्षित रहें |

आपको हमारा article antivirus kya hai अच्छा लगा हो तो share ज़रूर करें | अगर आप इसके बारे में और कुछ जानकारी चाहते हैं तो हमें comment box में बताएं | हम आपकी जानकारी में इसी तरह इज़ाफा करते रहेंगे | धन्यवाद !!

Advertisement

To Start Earning, Keep learning

We’d love to keep you updated with our latest post and offers 😎

Share with love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top