Search engine kya hai? कैसे काम करता है?

Search Engine kya hai? कैसे काम करता है? जब हमें किसी भी सवाल का जवाब ढूँढना होता है तो हम सीधे GOOGLE पर ही ढूंढते हैं | जो की एक famous Search Engine है और पूरे world में सबसे ज्यादा use किया जाता है | साथ ही सभी को ये विश्वास भी है कि जो परिणाम गूगल में दिखाए जाते है वो पूरी तरह से reliable होते हैं |

Search Engine का उपयोग जानकारी प्राप्त करने, Shopping करने, Entertainment करने, और एक दूसरे से connect करने के लिए किया जाता है | बाद में ये और develop हुआ और आज बहुत सारे social media platform के द्वारा लोग आपस में जुड़ रहे हैं, जैसे- Facebook, Twitter, Instagram, Whatsapp आदि |

Search engine kya hai सर्च इंजन क्या है?

Search Engine एक ऐसा Software Program है जो हमें Online result हमारी query के अनुसार data ढूंढ कर दिखाता है | इस तरह के data में search के अनुसार किसी भी प्रकार की सामग्री हो सकती है जैसे-Text, Image या Video आदि | Search Engine में दिखाया जाने वाला data पहले ही एक server पर लोड क्या हुआ होता है जो किसी भी उपयोगकर्ता के द्वारा सर्च करने पर प्राप्त होता है | Search Engine को एक Browser के द्वारा open किया जाता है जैसे-Internet Explorer, Firefox, Chrome, Opera,  आदि |

जब कोई यूजर internet पर Google में कोई भी query search करता है तो search engine का ये काम होता है कि जो user द्वारा ढूँढा जा रहा है, उससे सम्बंधित सबसे अच्छे result, सबसे पहले page पर display किये जाएँ | जिससे कि user दिखाए गए जवाबों से satisfy हो सके और उसे पूछे गए सवाल का पूरा जवाब भी मिल सके |

Search Engine को हिंदी में खोज इंजन भी कहते हैं और कई बार इसे answer machine के नाम से भी संबोधित किया जाता है | क्योंकि यह search किये गए सवाल अका जवाब पलक झपकते ही करोड़ों कि संख्या में दिखाता है | यह संख्या display किये रिजल्ट्स में सबसे ऊपर लिखे होते हैं |

Cyber crime kya hai? kaise bachen?

History of Search Engine in Hindi

WWW (World Wide Web) का आविष्कार सन 1989 में, Sir Tim Berners-Lee ने किया, जो Switzerland की एक बहुत ही famous लैब के मशहूर Scientist थे | इन्हीं के द्वारा HTTP तकनीक का इस्तेमाल सबसे पहले किया गया जो TCP/IP पर data का प्रसारण करता था | आप देखते होंगे की आज सभी website से पहले HTTP (Hypertext Transfer Protocol) लिखा होता है |

जिस website से पहले https:// लिखा हुआ होता है वे सभी site secured होती हैं और बाकी Unsecured | यहाँ से secured से मतलब है आपका data यहाँ सुरक्षित है जिसे चोरी नही किया जा सकता |

Advertisement

कई बार personal data चोरी करके डार्क वेब पर बेच दिया जाता है | कई बार धोके से account से पैसा ग़ायब कर दिया जाता है | इसलिए जब भी आप ऑनलाइन हों तो carefully data share करें, कुछ cyber Hacker ऐसे होते हैं जो security को तोड़कर data चोरी करने की फ़िराक में लगे रहते हैं |

Dark web kya hai? kaise kaam karta hai?

1991 में Berners Lee ने घोषणा की कि Technology को स्वतंत्र रूप से उपलब्ध होना चाहिए जिसके लिए कोई royalty या patent फ़ीस न हो, जो सभी के लिए कभी भी उपलब्ध हो | शुरुवाती web pages को विशेष रुचि वाले समाचार समूहों से जोड़ा गया |

प्रत्येक संदेश को एक News group में download करने के बजाय अब user सीधे portal पर जा सकते थे और अपनी query से संबंधित pages को navigate करके list कर सकते थे |

1993 में Jump Station की खोज की गयी जिसमे एक ही पेज पर title और heading दिखाई देता था यानि के जिस topic को आप सर्च कर रहे हैं उससे related result उसी पेज पर दिखाया जाने लगा |

भारत का पहला सर्च इंजन कौन सा है? 12 भारतीय सर्च इंजन की लिस्ट

सर्च इंजन कैसे काम करता है?

किसी भी data को सर्च करने के लिए Search Engine में टाइप किया जाता है जिसे Computer language में Keyword कहते हैं | Search Engine आपके द्वारा दिए गए शब्दों के match करने वाले उन सभी pages को दिखा देता है |

जैसे की आपने सर्च किया कि “Best mobile of vivo” तो Search Engine अपने database में सर्च करके उन सभी website को result pages में दिखा देगा जिस website में keyword से मिलते जुलते characters होंगे | उनमें से जो भी result आपको अच्छा लगे use नोट कर सकते हैं, save कर सकते हैं या share कर सकते हैं |

Search engine का सर्च रिजल्ट दिखाने का तरीका

वैसे तो Search Engine के search करने के बहुत से तरीके हैं जो समय समय पर update होते रहते हैं इन मे से कोई एक तरीका बताना संभव नही होगा | फिर भी कुछ main methods यहाँ बताए जा रहे हैं जिनसे कोई भी Search Engine result show करता है |

Search engine- Language

Top Search Engine में language का बड़ा ही important role है | अगर आप English में कोई भी query search करते हैं तो आपको सबसे ऊपर English content से related content ही दिखायेगा और अगर आप हिंदी में query search करते हैं तो हिंदी में | कुछ result पेज ऐसे भी होंगे जिनमे English और Hindi दोनों में content मिलेंगे | सभी language में यही same नियम apply होता है |

Search engine- Crawling

यह दूसरा step है अगर आप language बदलते हैं तो | इसमें क्या होता है कि जैसे आप Google या किसी और Search Engine में कुछ भी सर्च करते हैं तो Search Engine उन सभी pages को list-out कर लेता है जिसमे उस search या query से संबंधित जानकारी लिखी हुई होती है |

Search result इस बात पर भी निर्भर करते हैं कि आप image search कर रहे हैं या video या फिर कोई text | जो भी आप search करेंगे उसके relevant आपको result show हो जायेगा |

Search engine- Indexing

इस step में Top Search Engine खोज किए गए सभी pages की list बनता है यानी कि सर्च किये गए subject के अनुसार उसे सबसे ऊपर दिखाना शुरू कर देता है | जैसे कि आप सर्च करते हैं “What is Computer RAM” तो ये Computer RAM से related सभी pages दिखाना शुरू कर देगा | लेकिन अगर आप टाइप करें “ Top 5 Computer RAM” तो results बदल जाएंगे |

जैसे कि हमने बताया इसमें language का बहुत बड़ा फ़र्क पड़ता है, अगर आप हिंदी में टाइप करते हैं “ टॉप 5 कंप्यूटर रैम कौन सी हैं “ तो ये सबसे ऊपर हिंदी के results दिखाना शुरू कर देगा |

साथ ही ये भी देख पाएँगे की जो query आपने search की है उसके कितने pages आपको दिखाए जा रहे हैं | जहाँ से search result pages show होना शुरू होते हैं उसी के just नीचे pages की counting लिखी होती हैं कि आपकी search के अनुसार कितने पेज result दिखाए जा रहे हैं |

Page ranking

इस step में top search engine उन pages को सबसे पहले दिखाता है जो उस topic से related सबसे ज्यादा बार सर्च किये गए हैं | इन pages में exact वही content होता है जो आप सर्च कर रहे हैं और ये आपके keyword से match भी कर रहा होगा |

साथ हो Search Engine उन pages को भी वरीयता देता है जिनमे high quality content लिखा होता है | इसमें वो pages भी शामिल किये गए होते हैं जिनको user के अनुसार

अच्छी रैंकिंग मिली है, इस तरह की वरीयता को Back-link कहते हैं | इसके साथ और भी कई factor है जो पेज रैंकिंग को प्रभावित करते हैं जैसे- Quality of Content, Age of Content, Page Title आदि |

Top Search engine list

SEARCH ENGINE KYA HAI 2

Top Search Engine पर लाखों pages रोज़ाना upload किये जाते हैं उनमें से कुछ अच्छे pages को दिखाना हो तो Search Engine कुछ न कुछ algorithm तो use करेगा ही,तभी तो user का किसी Search Engine पर trust build-up हो पाता है और शायद यही कारण है कि आज सभी Search Engine में GOOGLE सबसे ऊपर है, बाकी सभी top Search Engine इसके बाद ही आते हैं |

आज इस article में हम उन सभी top search engine के बारे में discuss करने वाले हैं कि गूगल के अलावा कौन-कौन से Search Engine हैं और उनकी शुरुवात कब हुई | चलिए शुरू करते हैं-

GOOGLE

Top search Engine की दुनिया में सबसे ज्यादा popular और सबसे ज्यादा use किया जाने वाला portal है | इसको 1996 में शुरू किया गया जिसका श्रेय Sergey Brin और Larry Page नाम के दो लोगों को जाता है | इसका Headquarter California स्थित है | यह search engine market में 92.18 % की हिस्सेदारी रखता है |

यह बाकी सभी top search engine से कई गुना ज्यादा प्रसिद्ध है जो कोई विचित्र बात नही है | Google का content ही इतना बड़ा है कि इसे किसी भी storage device में save नही किया जा सकता | User experience बहुत ज्यादा better होने के कारण ये सभी देशों में बहुत use किया जाता है |

1999 में Google को एक बार बेचने की कोशिश भी की गई,जिसका नाम था Exite | उस समय इसकी कीमत $7,50,000 रखी गयी थी | लेकिन आज के समय में Google की कीमत $750+ Billion से भी कहीं अधिक है | इसके CEO भारतीय मूल के नागरिक श्री सुंदर पिचाई हैं | इनका असली नाम पिचाई सुन्दराजन है |

गूगल की अपनी और और मूल company भी है जिसका नाम Alphabet है और इसके CEO दुनिया के आठवें सबसे अमीर आदमी हैं | गूगल सिर्फ एक सर्च इंजन ही नही हैं बल्कि उससे कहीं ज्यादा है |

Google ने कई प्रकार के software को develop किया है | इसका google drive ऐसा portal जहाँ आप free में data store कर सकते हैं | इसके लिए आपको कोई storage device भी खरीदने की ज़रुरत नही है |

YouTube channel भी गूगल का ही portal है जहाँ दुनिया भर की videos आपको मिल जाएंगी | गूगल company ने Smartphones और Laptops की भी एक series develop की है | इसमें कोई संदेह नही कि गूगल आज विश्व के सबसे शक्तिशाली top search engine में से एक है |

गूगल के आंकड़ों से पता चलता है कि इसकी उपलब्धियों बहुत सारी है जिन्हें इस article में बताना संभव नही है | ऐसा नही है कि गूगल के अलावा और कोई सर्च इंजन नही हैं | बहुत हैं और काफी अच्छे विकल्प है | तो आइए कुछ और search engine के बारे में जानने की कोशिश करते हैं |

BING

Top search engine की list में Bing को 03 June, 2009 को शुरू किया गया जो Google के बाद सबसे ज्यादा use किया जाने वाला search engine है, जबकि यह Google से size में काफी छोटा है और इसकी search engine मार्केट में 80.4 हिस्सेदारी है जो Bing के लिए काफी संतोषजनक है | इस पर स्वामित्व पूरी तरह से Microsoft का है |

वैसे Bing जैसा top Search Engine ही ऐसा platform है जो गूगल को सीधे टक्कर दे सकता है | इसके द्वारा दिखाए गए results भी बहुत अच्छी quality की मानी जाती है | Google की ही तरह Bing भी search results को Images, Maps, Videos, और News जैसे Tabs में Filter करके show करता है |

Bing msn search और windows live का updated version है | ये दोनों भी Microsoft company द्वारा ही संचालित किये जाते हैं | यह विश्व का चौथा सबसे ज्यादा सर्च किया जाने वाला Search engine है जिस पर monthly लगभग 1.4 Billion visitors आते हैं |

बावजूद इसके Bing को काफी पसंद किया जाता है क्योंकि इनकी content quality काफ़ी अच्छी है | इसके homepage पर हमेशा एक stunning images और News Stories होती हैं |top search engine कि list में Bing काफ़ी अच्छा rank करता है|

YAHOO

Yahoo की स्थापना 1994 में Jerry Yong और David Filo ने की थी | शुरुवाती दौर में इसका नाम डेविड और जेरी ने अपने नाम पर ही रखा | इसका नाम था -”Jerry and David`s Guide to the World wide web” | 1998 में Google के संस्थापकों ने Yahoo को Google को $1,000,000 में बेचने की कोशिश की लेकिन याहू ने ये प्रस्ताव ठुकरा दिया |

सन 2000 में Yahoo ने अपनी company अपनी online सेवाओं जैसे-Yahoo mail और अन्य सेवाओं से $125 Billion का profit प्रदान किया |Top search engine की list में यह search engine तीसरे स्थान पर rank करता है |

YANDEX

Top search engine की list में अगला नाम Yandex का आता है | इसकी शुरुआत 1993 की गई और और Yandex का नाम दिया गया जिसका मतलब है “अभी तक एक और INDEXer” | इसका उपयोग Russian internet users के द्वारा सबसे ज्यादा किया जाता है |

साथ ही यह बेलारूस, कज़ाकिस्तान, तुर्की और युक्रेन जैसे देशों में भी use किया जाता है | यह top 10 Search Engines में पांचवें स्थान पर आता है | रूस में Total search में से 50% search पर Yandex ने कब्ज़ा किया हुआ है |

Yandex द्वारा 70 से भी अधिक सेवाएं प्रदान की जाती हैं जिसमें Yandex Disk, Google के disk के समान cloud based technology पर आधारित है |

BAIDU

यह china का Top search engine है | इसकी स्थापना सन 2000 में चीन की राजधानी बीजिंग में की गई | यह world का सबसे ज्यादा use किया जाने वाला सर्च engine हैं लेकिन ये चीन में ही ज्यादा popular है क्योंकि ये Chinese भाषा में ही बना हुआ है |

ऐसा भी कह सकते हैं किये चीन का Homemade search engine है फिर भी total internet search में 7.34% search की हिस्सेदारी है और world में तीसरे स्थान पर है |

2019 तक Baidu ने internet मार्किट का 74.73% हिस्सा capture किया हुआ है जबकि Google China में केवल 2% हिस्सेदारी ही बना पाया है | Baidu दुनिया का सबसे बड़ा Artificial Intelligence और Internet Service देने वाला search engine है |

लेकिन चीन के बाहर इसकी value थोड़ी कम है जिसका मुख्य कारण language है लेकिन English language ज्यादातर देशों में प्रयोग की जाती है | यही कारण है कि Google पूरे world में सबसे ज्यादा popular है |

CC SEARCH

यह एकमात्र ऐसा Search Engine है जिस पर Copyright free Content search कर सकते है | मतलब यह कि यहाँ से किसी भी content जैसे- Blog post के लिए images,content,videos आदि को use कर सकते हैं |

इसके लिए आपसे कोई penalty नही ली जाएगी यह एकदम free है | फिर भी आप इसका use ध्यान पूर्वक करें | यह भी results को Flicker,Wikimedia जैसे filters के द्वारा show करता है साथ ही इसके content पर Creative Commons के लेबल द्वारा दिखाया जाता है |

SWISSCOWS

ये user की privacy का पूरा सम्मान करते हैं और यहाँ पर किसी भी तरह से user का data save नही किया जाता और न ही history में कोई track रिकॉर्ड रखा जाता है | इस सर्च इंजन में अलग-अलग tabs में में सर्च रिजल्ट को filter करके दिखाया जाता है |

DUCKDUCKGO

Top search engine की list में इसने भी अपनी जगह बनाई हुई है | इसकी स्थापना 2008 में California में हुई थी जिसका श्रेय Gabriel Weinberg को जाता है | यह मार्किट में 0.39% की हिस्सेदारी के सातवें नंबर पर मौजूद है और बहुत सारे देशों में प्रयोग किया जाता है |

अगर आप सोचते हैं कि ऐसा कोई search engine हो जहाँ पर privacy को कोई ख़तरा न हो या फिर कोई आपको track न कर सके तो Duckduckgo एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है | इसकी tagline भी यही है “Privacy Simplify” यानी गोपनीयता और सरलीकृत |

इसमें आप privacy की चिंता किये बिना अपनी details submit कर सकते हैं और नियंत्रित भी कर सकते हैं | यह आपको और आपकी जानकारी को follow नही करता है, और न ही विज्ञापन के द्वारा आपको परेशान करता है | इस search engine पर रोज़ाना 27.4 million से भी ज्यादा visitors आते रहते हैं | गूगल के अलावा यह भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है |

EXITE.COM

इसकी स्थापना 1994 में की गई थी और दो साल के बाद पब्लिक के लिए open की गयी वो भी सभी चीजें update करने के बाद | उन दिनों Exite का काफी नाम था और सबसे ज्यादा popular search engine में से एक था |

Exite.com 1997 में सबसे ज्यादा देखी जाने वाली website थी और उसकी popularity की वजह से यह सन 2000 में चौथे स्थान पर रह चुकी थी | यह ऑनलाइन सेवाओं के लिए ज्यादा प्रसिद्ध है जिसमे Email, News,Instant Updates, और whether हैं | इसमें ज्यादातर ऐसे सवालों के जवाब होते है जो हाल ही पूछे जाने वाले होते हैं |

START PAGE

यह top search engine 1998 में David Bodnik द्वारा बनाया गया था | पहले इसका नाम ‘Lxquick’ रखा गया था लेकिन बाद में इसे Startpage में विलय कर दिया गया | Images, News, और MP3 search के लिए best माना जाता है | ये गूगल द्वारा दिखाए जाने वाले results को भी वरीयता देता है |

गूगल जैसे trust based content आपको यहाँ भी मिलते हैं | यह images , mail , और इनकी setting जैसे tabs में data को filter करके show करता है | इसमें URL generator proxy service और HTTPS जैसी सहायता भी शामिल है | इसकी खास बात ये भी है कि ये user को भेजी जाने वाली Cookies को भी save नही करता है |

मतलब हर बार आप इसके लिए नए user होंगे जब तक की आप इसमें signup नही कर लेते | ये पूरी तरह सुरक्षित है और आपकी privacy का ध्यान रखता है |

ASK.COM

इसकी शुरुआत 1995 में California में Garrett Gruener और David Warthen द्वारा की गयी थी | शुरू में इसका नाम ‘AskJeeves’ रखा गया था लेकिन 2006 में इसे Ask.com कर दिया गया साथ ही सभी features को भी update कर दिया गया |

यह दुनिया का छठा सबसे ज्यादा use किया जाने वाला search engine है इसकी search engine market में 0.72 % हिस्सेदारी है | वैसे तो यह आकार में काफी बड़ा है लेकिन गूगल जैसे विशालकाय search engine के सामने अभी भी बहुत छोटा है लेकिन जानकारी यहाँ भी बहुत सटीक मिलती है | यह आकार में Bing से 10 गुना छोटा है और गूगल से 100 गुना छोटा है |

NAVER

इसकी शुरुआत 1999 में एक webportal के रूप में हुई | ये विश्व का आठवाँ सबसे सफल search engine है जिसके market में 0.3 % की हिस्सेदारी है | यह मुख्यतः दक्षिण कोरिया में प्रचलित है और 75% traffic के साथ सफलतापूर्वक run कर रहा है |

75% इसलिए की बाकी का traffic यहाँ पर Baidu capture कर लेता है | इस portal पर आकर लोग अपने सवालों के जवाब सर्च करते हैं |आज के समय में यह Email, Encyclopedia, और बच्चों के लिए ज्यादा famous है इसके साथ साथ इसमें latest news जैसे features भी शामिल हैं |

SEARCH ENCRYPT

यह search engine एक प्राइवेट search engine है जो आपकी गोपनीयता का ध्यान रखते हुए जानकारी को encrypt करता है यानी कि आपके database को एक ऐसे code में बदल देता है जिसे hack कर पाना मुश्किल होता है इससे आपका data सुरक्षित हो जाता है | इसके लिए यह कुछ software का भी प्रयोग करता है जैसे- Secure socket layer encryption और AES-256 encryption |

यह अपने साथ जुड़े हुए नेटवर्क से query के हिसाब से data फेत्च कर लेता है और स्क्रीन पर display कर देता है | इसका फायदा यह भी है कि यह अपने database में user की जानकारी को save नही करता है | आपके search engine से बाहर निकलते ही यह data को destroy कर देता है जिससे query के सभी शब्द नष्ट हो जाते है |

ECOSIA

यह विश्व के search engine में उतना popular नही है लेकिन फिर भी उल्लेखनीय है | यह जर्मनी के बर्लिन में स्थित है और वहां के स्थानीय अर्थव्यवस्था और पर्यावरण को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से बनाया गया है | इसमें दिखाए जाने वाले विज्ञापन से जो कमाई होती है उसे पेड़ और स्थानीय लोगों ,पर्यावरण आदि को प्रोत्साहन देने में खर्च किया जाता है |

इसमें बाकी search engine की तरह search results को filter करने के लिए option भी नही दिए गए हैं जैसे- Images, Maps, News, Support आदि | इसके search box के नीचे हमेशा एक counting चलती रहती है जो यह बताती है कि अब तक इस portal से जुड़े कितने लोगों ने पेड़ लगाए और अपना कॉन्ट्रिब्यूशन दिया है | इससे जुड़ कर आप पर्यावरण के क्षेत्र में अपना सहयोग दे सकते हैं,बस !

WOLFRAM ALPHA

इसको 2009 में शुरू किया गया था जिसका मुख्य उद्देश्य छात्र वर्ग को प्रोत्साहन देना है | इसमें प्रतियोगिताओं से संबंधित जानकारी ज्यादा मिलती है | यह सभी search results को web pages की सूची में नहीं दिखाता है | इसका मुख्य purpose knowledge को compatible और पूर्ण रूप से सुलभ बनाना है |

इसके अलावा और भी बहुत सारे top search engine हैं जिनकी list नीचे दी जा रही है |

  • GIBIRU
  • ONE SEARCH
  • WIKI.COM
  • BOARDREADER
  • GIVEWATER
  • EKORU
  • SLIDESHARE
  • INTERNET ARCHIVE
  • AOL.COM
  • LIVE.COM
  • LYCOS
  • CHACHA.COM
  • DOGPILE
  • BLEKKO
  • GIGABLAST
  • KEY-WHOLE
  • SOCIAL MENTION
  • BUZZSUMO
  • CREATE COMMON
  • TIN EYE
  • WIKIMEDIA
  • 360 DAILY
  • CRUNCHBASE
  • SIMILARWEB

Conclusion (निष्कर्ष)

दोस्तों ! आज हमने सीखा कि Bing kya hai? Google kya hai? Duckduckgo kya hai? Search Engine ऐसा portal होता है जहाँ पर हमें हमारे सवालों के जवाब मिलते है और बहुत ही relevant जवाब मिलते हैं | चाहे वे सवाल किसी भी field से संबंधित क्यों न हों | आने वाले समय में Search Engine का भविष्य पूरी तरह से उज्जवल है |

आज के समय में प्रत्येक व्यक्ति digital media के तरफ आकर्षित हो रहा है और क्यों ना हो यहाँ पर विकल्प ही इतने सारे हैं कि आदमी अपना पूरा दिन digital media पर बिता सकता है चाहे पढ़ाई करनी हो या मनोरंजन | ये सब Search Engine के मदद से संभव हो पाता है |

जो top Search Engine की list यहाँ बताई गई है हो सकता है आने वाले समय में वो बदल जाए लेकिन इसकी उपयोगिता कभी खत्म नही हो सकती | आपको हमारा ये article कैसा लगा हमें comment करके ज़रूर बताएँ और यदि आप इसमें कोई सुधार चाहते हों या किसी और विषय के बारे में जानना चाहते हों तो comment box में लिखें | धन्यवाद !!

Advertisement

To Start Earning, Keep learning

We’d love to keep you updated with our latest post and offers 😎

Share with love

5 thoughts on “Search engine kya hai? कैसे काम करता है?”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top