Windows server kya hai

Windows को तो सभी जानते ही हैं जो कि एक Operating system है | इसका काम Computer पर किये जाने वाले प्रत्येक कार्य को manage करना है | इसके अलावा Hardware और Software को control करना भी operating system का ही काम है |

आज के इस article में हम जानने वाले है की windows server के कौन-कौन से version है और वे सभी कब launch किये गए | लेकिन इससे पहले जानते है कि server क्या होता है |

Server क्या है | What is Server in Hindi

Server एक advance technology से तैयार किया गया बहुत ही बेहतर प्रदर्शन करने वाला computer है | जिसका काम बड़ी मात्रा में data store करना और Computer Networking से जुड़े दूसरे computers जिन्हें client कहते हैं को ज़रुरत पड़ने पर data और service provide करना है |

जब किसी client कंप्यूटर को कोई जानकारी या data चाहिए होता है तो client कंप्यूटर server को request भेजता है और server कंप्यूटर द्वारा माँगा गया data client कंप्यूटर की screen पर display कर दिया जाता है |

जैसे- हम Google में कुछ भी search करते हैं तो Google जो कि एक बहुत बड़ा search engine है server से data fetch करके हमारे कंप्यूटर की screen पर मांगे गए data से सम्बंधित बहुत सी websites result के रूप में show कर देता है |

Screen पर दिखाया जाने वाला यह data एक बड़े storage पर store किया गया होता है | जो कि server कंप्यूटर होता है | बस वहीँ से हमें तमाम data और information मिल जाती है |

Server में Hardware और Software दोनों का प्रयोग किया जाता है क्योंकि दोनों ही एक दूसरे के पूरक हैं | Server हमेशा 24×7 घंटे काम करता रहता है, कभी भी बंद नही होता है | इससे जुड़े component और Devices कभी ख़राब न हों इसका पूरा ध्यान रखा जाता है | साथ ही power supply, किसी भी स्थिति में disconnect न हो, इसका भी विशेष ध्यान रखा जाता है |

Server से जुडी कुछ ज़रूरी चीज़ें

  • High capacity storage devices
  • Powerful Processor
  • Hardware
  • Software
  • Internet
  • Electricity
  • Backup

तो ये थी थोड़ी सी जानकारी server के बारे में | आइए अब जानते हैं कि Windows server के कौन-कौन से version है |

List of Windows Server in Hindi 

Advertisement

windows server kya hai 2

जिस तरह से personal कंप्यूटर के लिए windows के operating system release किये गए उसी प्रकार server के लिए भी operating system release किये गए जो अलग अलग purpose के लिए बनाये गए थे |

personal कंप्यूटर की अपेक्षा server कंप्यूटर के advanced operating system की आवश्यकता होती है क्योंकि server काफी सारे client computers को service provide करानी होती है | आइये देखते हैं कि server computer के लिए कब और कौन से operating system release किये गए |

Windows NT Advanced Server 3.1 (1993)

इस operating system server  को Microsoft company ने 1993 में market में launch किया था | यह 32 bit system पर आधारित था | इसको release करने एक बड़ी वजह ये भी थी कि windows के personal computer में use होने वाले operating system market में अपनी जगह बना चुके थे और इनकी demand भी काफी थी |

इसलिए इसकी demand को देखते हुए windows NT advanced server 3.1 को market में उतरा गया जो उन दिनों market में प्रस्तुत Hardware को आसानी से handle कर सकता था |

इसी साल इसी का एक और संस्करण भी release किया गया था जो Workstation के लिए बनाया गया था | 32 bit operating system में एक और खास technology का उपयोग किया गया था जिसका नाम था -HAL यानी कि Hardware Abstraction Layer | यह तकनीक server कंप्यूटर को unauthorized application के direct access से server को बचाती थी।

Windows NT Server 3.5 (1994)

1994 में release किए गए इस server  को NT Advanced 3.1 से ज्यादा advanced और upgrade करके बनाया गया था। यह Unix System के साथ-साथ Novell Netware के साथ server inter connectivity की सुविधा दी प्रदान की गई। इसके अलावा भी जो Non-Microsoft operating system थे, वह भी यहाँ पर file और application को अपने domain पर access कर सकते थे |

Windows NT Server 3.5-1 (1995)

Microsoft Company ने इसे अपनी performance को और बेहतर बनाते हुए 1995 में रिलीज किया जिसकी खास बात यह भी थी कि यह Operating System पहले की अपेक्षा कम memory use करता था। साथ ही अपने users को fast तरीके से service देने में भी सक्षम था |

इसके अलावा Microsoft Company ने Windows NT और Net-ware की सभी विशेषताओं को समायोजित किया जिससे कि बेहतर connectivity और service दी जा सके। यह Operating System Windows`95 जो कि इसी साल release किया गया था कि साथ use करने में अनुकूल था।

Windows NT Server 4.0 (1996)

यह 24 अगस्त 1996 में रिलीज किया गया था | जिसमें काफी हद तक विंडोज 95 के features को use किया गया था जैसे- File Explorer क्योंकि यह File management को बेहतर तरीके से प्रदर्शित करने में सक्षम था और user-friendly भी था।

यह संस्करण internet information server के रूप में एक बेहतर प्रदर्शन करने वाला Operating System बन गया था और यह बाकी सभी Operating System से अच्छी तरह मेलजोल स्थापित कर सकता था।

बेहतर service देने के लिए यह Operating System networking की सभी protocol की सुविधाओं के साथ सुसज्जित था। इस technology को IIS- INTERNET INFORMATION SERVICE कहा गया। यह Web management software के रूप में आज भी सबसे अधिक लोकप्रिय है।

Windows Server 2000 (2000)

यह server संस्करण 2000 में रिलीज किया गया जिसकी विशेषता यह थी कि इसमें active directory को use किया गया जो user के data system और service को store करने के साथ-साथ manage भी करता था। इसके अलावा भी यह विभिन्न प्रकार के task perform कर सकता था जैसे – Virtual private network configuration data encryption और Networking से जुड़े बाकी Computer के साथ फाइल आदि भी share करने में पूरी तरह सक्षम था ।

Windows ने 2000 में ही इसके 3 संस्करण market में launch किए जिनके नाम हैं: Server, Advanced server, और Data center। Microsoft ने आधुनिक जगत से जुड़ने के लिए अपने पुराने शीर्षक ‘NT’ को इस वर्ष से हटा दिया और आगे भी इसका कभी प्रयोग नहीं किया। इसमें मुख्य Networking XMP support, और active page create करने की क्षमता को भी विकसित किया गया |

Windows Server 2003 (2003)

इस Server operating system को 2003 में रिलीज किया गया | इसमें special function को add किया गया जैसे-Domain Controller और DNS Server । इसमें Windows 2000 के ही सभी security features को शामिल किया गया था।

इसमें कुछ नई सुविधाओं को भी add किया गया जैसे- Encryption functionality, Inbuilt firewall और NAT-Network Address Translation | Web service security को ध्यान में रखते हुए इसके काफी सारे default services को हटा दिया गया जिससे unwanted access से server को बचाया जा सके । इस वर्ष इसके 4 new version रिलीज किए गए थे, जिनके नाम इस प्रकार हैं :

  • Windows server Standard
  • Windows server Enterprise
  • Windows server Data center
  • Windows server Web

सबसे विशेष रूप से इसमें यह बदलाव किया गया कि इसमें system reboot कम करना पड़ता है | इसलिए पूरे system को reboot किए बिना upgrade और patches लागू करने की क्षमता भी दी गई ।

Windows Server 2003 R2 (2005)

2003 के Operating System server को upgrade  करते हुए और एक नया संस्करण पेश किया गया जिसका नाम था Windows Server 2003 R2 । यह 2005 में market में पेश किया गया जिसका मुख्य उद्देश्य security functionality में सुधार करना था | विशेष रूप से उन लोगों के लिए जो users के लिए online सुविधाएं उपलब्ध कराते थे। जैसे- web hosting provider ।

Web Hosting जैसी सुविधाएं देने में बहुत से user हमेशा लाखों की संख्या में जुड़े रहते हैं | ऐसे में security features का strong होना बहुत जरूरी है | इसमें active directory application mode को भी शामिल किया गया था जो user को third party program को access करने की अनुमति भी देता था।

इससे पहले लांच किए गए Operating System server को हर बार use करने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता होती थी और लाइसेंस को upgrade कराना पड़ता था। server 2003 r2 ने इस समस्या को समाप्त किया |

Windows Server 2008 (2008)

यह संस्करण 3 साल बाद 2008 में रिलीज किया गया था, जो पूरी तरह से सफल रहा क्योंकि यह बेहतर Interface और Software support को अनुमति देने के लिए पूरी तरह से तैयार किया गया था |

एक नए tool के साथ पेश किया गया- core server activities,  जिसके द्वारा यह Event view server और management करने में हर तरह से उपयोगी साबित हुआ इसके कुछ मुख्य features इस प्रकार है :

  • V virtualization-software
  • Cluster fail-over
  • Server manager console
  • Event viewer

इस वर्ष चार संस्करण रिलीज किए गए

  • Windows server standard
  • Windows server enterprise
  • Windows server data center
  • Windows service web

Windows Server 2008 R2 (2008)

इस Operating System में Windows 7 के Kernel का उपयोग किया गया | इसकी मुख्य विशेषताओं में branch cache और direct access तीनों को modify करके सुधार करना था।

इस version ने windows 7 से लेकर windows 7 core के सभी संस्करणों में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और काफी सफल प्रदर्शन किया।यह संस्करण 32-Bit और 64-Bit दोनों version में रिलीज किया गया था |

यह 2008 में रिलीज किए गए server का upgraded version था | क्योंकि windows server 2008 पहले ही काफी पॉपुलर हो चुका था इसलिए R2 को market में अपनी जगह बनाने में ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी |

इस updated Version में Remote access सुविधाओं को भी upgrade किया गया | जिसमें Broadcast Remote Desktop Service जैसी सुविधाओं को शामिल किया गया था।

Windows Server 2012 (2012)

इस version में Cloud संबंधित सुविधाओं को एक साथ जोड़ा गया जिसे Cloud based operating system के रूप में जाना गया | यह 2012 में market में पेश किया गया था। यह संस्करण उन संस्थानों के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हुआ, जो Public और private दोनों तरह की Cloud सेवाएं provide कराते हैं।

इसके अलावा इस के स्टोरेज infrastructure और Hyper V-virtualization को भी upgrade किया गया। इसकी मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं

  • Hyper v-virtualization
  • Hyper v-Rreplica
  • Storage space
  • ReFS file system आदि।

इसके इस साल 4 अलग-अलग version release किए गए थे।

  • Windows server Essentials
  • Windows server Foundation
  • Windows server Standard
  • Windows server Data center

Windows Server 2012 R2 (2012)

1 साल बाद Server 2012 का ही upgraded version release किया गया, जो size में छोटा था और काफी popular हुआ, जो Cloud Compatibility को कायम रखने में सक्षम था | इसके अलावा security Protocol और Network Service कार्यात्मकताओं में महत्वपूर्ण साबित हुआ |

इसके अलावा इसमें और भी कई तरह के बदलाव किए गए जैसे-Virtualization, Storage, Networking सूचना सुरक्षा और Web services, और कॉन्फ़िगरेशन के flow को control करना आदि। इसके लिए DSC- Desired State Configuration बनाया गया।

यह पहला ऐसा version था, जो Mobile और Tablet जैसे devices इसके लिए भी Server उपलब्ध कराता था | इसके अतिरिक्त यह File Sharing भी बेहतरीन तरीके से manage कर सकता था |

इसके अलावा Storage space tie-ring को add किया गया जिससे कि जरूरत पड़ने पर System Storage System के Space को Automatically बढ़ा सके | जिससे कि Server Failure की समस्या को खत्म किया जा सके। साथ ही यह System के data का Backup लेकर Data Flow crack होने से भी बचाता था ।

Windows Server 2016 (2016)

2016 में रिलीज किए गए इस संस्करण को काफी सारे बदलाव के बाद रिलीज किया गया जो Network कलेक्शन के रूप में महत्वपूर्ण Server साबित हुआ | इसमें ऐसा program बनाया गया जो Physical और Virtual Network के बीच सामंजस्य स्थापित करने योग्य था।

इस साल Microsoft  ने एक Nano Server की शुरुआत की | जिसका उद्देश्य security को boost करके Malware attack से बचाना था । साथ ही इसके Physical size को कम करके काफी छोटा किया गया जिससे space को सही तरह से utilize किया जा सके । हालांकि इसे भी upgrade करके ही रिलीज किया गया था |

लेकिन पूर्व में launch किए गए संस्करण की तरह के ही कुछ अलग features शामिल थे | जैसे V-Virtualization, Storage, Networking आदि । यह सुरक्षा की दृष्टि से भी काफी परिष्कृत और नए hyper- V-Virtualization जैसी विशेषताओं के साथ तैयार था जिसका उद्देश्य Virtual मशीन के अंदर छेड़-छाड़ करने से रोकना था।

Windows Server 2019 (2019)

यह वर्ष 2019 में रिलीज किया गया जिसे केंद्रीय server के रूप में देखा गया, क्योंकि इसे Server 2012 R2, 2016 और 2019 में चलने वाले Server को एक साथ Arrange किया जा सकता था । इसके अलावा Network features को सबसे अधिक update करने में ध्यान दिया गया |

क्योंकि इन दिनों में Networking business लगातार बढ़ता जा रहा था और market में Linux जैसे Operating System भी अपनी जगह बनाने लगे थे | इसलिए server को इस तरह से डिजाइन किया जाने लगा जिससे कि इस पर किसी भी प्रकार के operating system को operate किया जा सके और data के flow को कंट्रोल किया जा सके ।

Windows Server 2020 (2020)

19 मई 2020 में यह संस्करण रिलीज किया गया जिसकी सफलता का श्रेय Server 2019 को जाता है | कुछ बदलाव के साथ ही से पेश किया गया यह एक LTSC- Long term service channel है जिसमें Data Center और Standard Edition के लिए Desktop Experience और core Installation दोनों option शामिल है।

इसे Windows Server V-Next के नाम से साल के मध्य में रिलीज किया गया | इसकी विशेषताओं में FD Power Cluster, SMB Virtual Machine, Virtual Switch, और  Cluster fail-over ।

इसे windows के client Operating System Windows 10 के समर्थन के लिए रिलीज किया गया है | इसके अलावा इसके दो version और release किए गए जैसे- windows 10 के लिए LTSC 2019 और Windows server 2019 |

Microsoft ने एक report में कहा कि Windows server केवल किसी विशेष features के साथ नहीं बंधे हैं। आगे आने वाले समय में Server 21H2 release किया जा सकता है | लेकिन इसे Windows 10 की तरह update भी किया जा सकता है, और windows 10 के updated version Windows 10x के साथ Server 21H2 release किया जा सकता है |

Conclusion (निष्कर्ष)

Windows Server एक ऐसा computer होता है जो काफी सारे data को control करता है और उससे जुड़े computers को Network और data access करने की अनुमति भी देता है | अगर किसी server से 20 computers को जोड़ा गया है और किसी एक कंप्यूटर का data crash हो जाता है तो data वास्तव में loss नही होता है |

दरअसल पूरा data server computer में जाकर save होता रहता है | server computer एक तरह से backup कंप्यूटर की भूमिका भी निभाता है | इसके अलावा malware attack से भी data को होने वाले नुकसान से भी बचाता है |

तो दोस्तों ये था आज का आर्टिकल windows server kya hai जिसमे हमने Computer server के versions के बारे में बात की | आपको हमारा ये article कैसा लगा हमें comment करके ज़रूर बताएं, और हाँ article अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों को share करना न भूलें | हम आगे भी ऐसी ही जानकारी आपके लिए लाते रहेंगे | धन्यवाद!!

Advertisement

To Start Earning, Keep learning

We’d love to keep you updated with our latest post and offers 😎

Share with love

17 thoughts on “Windows server kya hai”

  1. Aap ki site etni achhi hai fir bhi Adsense kyu nhi Approve hua

    Adsense Error or other problems

    Plz bataye mujhe sahi jankari dena taki motivation mile

      1. अगर हम 7,8 महीने या उससे ज्यादा दिनों तक एडसेंस एप्लाई नहीं करेंगे तो पैसे कैसे कमाएं ओर पैसे नही मिलेंगे तो आगे Hosting और दूसरे खर्चे कैसे उठाएं।

        कब एप्लाई करना चाहिए कि पहली बार में मिल जाए अप्रूवल ओर low Value Content का msg भी ना आए

  2. Thanks for one marvelous posting! I enjoyed reading it; you are a great author.I will make sure to bookmark your blog and may come back someday. I want to encourage that you continue your great posts, have a nice weekend!

  3. Existing without the answers to the difficulties you’ve sorted out through this guide is a critical case, as well as the kind which could have badly affected my entire career if I had not discovered your website.

  4. It has been simply incredibly generous with you to provide openly what exactly many individuals would’ve marketed for an ebook to end up making some cash for their end, primarily given that you could have tried it in the event you wanted.

  5. Hey there just wanted to give you a quick heads up. The words in your article seem to be running off the screen in Chrome. I’m not sure if this is a format issue or something to do with internet browser compatibility but I thought I’d post to let you know. The style and design look great though! Hope you get the issue resolved soon. Cheers

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top